जीवन मिलता नहीं है जीवन बनाना पड़ता है!

तुम यहाँ क्यों आये हो जीवन क्या है? तुम लोग समझते हो हम लोग पैदा हुए मर जायँगे। बस यही जीवन है।नहीं यह जीवन नहीं है जीवन मिलता नहीं है जीवन बनाना पड़ता है जीवन जीना पड़ता है जो कायर मनुष्य होते है जो कुछ करना नहीं चाहते वह हमेशा कुछ न करने के लिए दूसरे पर दोष लगाते है वह बोलते है हम बहुत कुछ करना चाहते थे लेकिन संसार गलत है इसलिए कुछ नहीं कर पाए तुम आये संसार उससे पहले भी था तुम चले जाओगे संसार उसके बाद भी रहेगा संसार कभी नहीं बदलेगा संसार जैसा था वैसा ही रहेगा बदलना तुम्हे है अपना जीवन तुम्हे ही बनाना है और वो बनता है जागने के बाद। जिस क्षण तुम जाग जाओगे उसी क्षण तुम जीवन को पहचान जाओगे। इसलिए मैं कहता हूँ अभी भी समय है जागो! आंख खोलो देखो तुम कहा भागे जा रहे हो! देखो धर्म के नाम पर तुम क्या क्या पाखण्ड कर रहे हो।

ध्यान करो! जागो! जागते रहो!

परमात्मा